हमे सफलता क्यों नहीं मिलती ? -Motivational Story

जिंदगी में बहुत सारे अहम सवाल होते हैं? और हर एक सवाल का कोई न कोई जवाब होता है और सबसे अहम सवाल यही होता है की आखिर क्यों हम सफलता से दूर रहते हैं ? आखिर मुझे सफलता क्यों नहीं मिल रही है| बहुत सारे आपकी ज़िंदगी में सवाल होंगे लेकिन आप ये सवाल हर रोज़ अपने आप से पूछते होंगे | हर रोज़ एक ही सवाल की आखिर मै सफल कैसे हो पाउँगा ? या फिर मुझे सफलता क्यों नहीं मिलती और यही सवाल का जवाब आज मै आपको कहानी बताकर समझाने वाला हूँ |

Image result for HME SAFALTA KYO NHI MILTI

 

एक बार लोकवन में एक कौआ खाने की तलाश में आकाश में उड़ रहा था | उन दिनों में वो कौआ अपनी ज़िंदजी से बहुत ही संतुष्ट था | उसे लग रहा था की वो बहुत ही खुश है और वो इस जंगल का बहुत ही अच्छा और खूबसूरत पक्षी है | जब उड़ते उड़ते वो दूर निकल गया ,वहां पर उसकी नज़र अचानक हंस पर पड़ी ,हंस को देखते ही वो कौआ बड़ा आश्चर्य हुआ की मै खुद को सुंदर समझता था | लेकिन यह हंस तो मुझसे भी कई गुना ज्यादा सुंदर है और कौआ उसकी सुंदरता को देखकर बहुत चकित हो गया |

कौआ से रहा नहीं गया और हंस को जाकर यह बात बताई की मै तो खुद को बहुत सुंदर समझ रहा था लेकिन तुम तो मुझसे भी कई गुना ज्यादा सुंदर हो | यही बात सुनकर हंस को हँसी आ गयी | हंस बोला  मित्र मै भी पहले यही सोचता था की मै सबसे सुंदर हूँ पर जबसे मैंने तोते को देखा है ,तो लगता है की वही सबसे ज्यादा सुंदर है | क्योंकि मेरे पास तो बस एक सफ़ेद रंग है पर तोते के पास तो दो अलग अलग रंग हैं |

फिर क्या था यही सुनकर कौआ बहुत तेज़ी से उड़ने लगा और उड़ते हुए तोते के पास पहुँच गया और बोला  मित्र तुम तो  बहुत ही सुंदर हो,तोता कौआ की बात सुनकर बहुत दुःखी हुआ और बोला  मित्र मै भी यही सोचता था पर जब से मैंने मोर को देखा है मुझे अपनी सुंदरता फीकी नज़र आती है क्योंकि मोर के पास तो बहुत सारे अलग अलग रंग हैं | वो बहुत ही सुंदर दिखाई देता है मेरी नज़र में वही इस दुनिया का सबसे सुंदर पक्षी है |

फिर क्या था कौआ उड़ता उड़ता मोर को ढूंढने लगा लेकिन मोर कहीं नहीं मिला और वो कौआ उड़ते उड़ते एक चिड़ियाघर के पास पहुंचा वहां पर उसे वो मोर दिखाई दिया,और कौए ने  मोर की सुंदरता की  बहुत प्रशंसा की  लेकिन उसके बाद मोर यह बाते सुनकर मोर और ज्यादा गंभीर हो गया और गंभीर होकर वो बोला की मित्र क्या फायदा है ऐसी सुंदरता का | मै पिंजरे में बंद हूँ,मै तुम्हारी तरह रोज़ आकाश में नहीं उड़ सकता और मैंने तो यही सुना है की इस पूरे जंगल में एक कौआ ही ऐसा जानवर है जिसे कोई जंगल में कैद नहीं कर सकता |

अगर देखा जाये तो  मेरे से भी ज्यादा अच्छी जिंदगी तुम्हारी है तुम रोज़ खुले आकाश में उड़ सकते हो| तुम जहाँ चाहों वहां जा सकते हो, मर्ज़ी में  आये  वो कर सकते हो कौए को अब सारी  बात समझ आ चुकी थी और वो जान चूका था की मै कितना भाग्यशाली हूँ |

यह कहानी हमारी जिंदगी पर भी लागू होती है हम लोग यही तो करते हैं अपने काम और अपने लक्ष्य पर ध्यान न देकर बिना वजह ही दुसरो से अपनी तुलना करते हैं | हम ये सोचतें है की उन लोगो के पास तो इतना सारा पैसा है वो बहुत सारा पैसा कमाते हैं लेकिन मेरे पास तो कम पैसा  है मै कमा नहीं पाता | हम सोचते हैं की उस व्यक्ति के पास बहुत कम्पनी है या फर वो बहुत ही अच्छी नौकरी करता है लेकिन मै नहीं कर सकता,मेरे पास कम्पनी नहीं है मै अच्छी कम्पनी  में जॉब नहीं करता |

हम तो यह भी सोचते है की वो बहुत खुबसूरत है पर मै क्यों नहीं? हम सोचते हैं की वो बुद्धिमान है,पढाई में कितना अच्छा है और मै पढाई ही नहीं कर पाता | एक बात याद रखो ऐसी ही सोच की वजह से दुखी रहते है हम,अपने आप को बार बार दुसरो से तोलते है और अपने आप को चोट पहुंचाते रहते हैं |

हम अपने गोल और अपने सपने की तरफ फोकस नहीं कर पाते क्योंकि हम अपने काम और अपने गोल के इम्पोर्टेंस को दूसरे कितने अच्छे हैं उसे देखने में ही waste करते है और उसके रिजल्ट के रूप में हम उनसे पीछे रह जाते हैं और हमेशा दूसरों को अपने से ज्यादा आंकते हैं | हम यह बात भूल जाते हैं की हर इंसान में हर एक quality होती है,हर एक इंसान मे कुछ न कुछ बेहतर टैलेंट होता है और हम उसको सिर्फ ढूंढ नहीं पाते | हर इंसान में सबसे अच्छी बात होती ही है इसलिए हम कभी भी खुद की ताकत को पहचानते नहीं  है |

हमे इसलिए खुद पर भरोसा रखना चाहिए,खुद को हमेशा इम्पोर्टेंस देनी चाहिए,खुद को पढाई में अच्छा  बनाना चाहिए| दूसरे लोग अच्छी कम्पनी में काम कर रहे हो मै भी करूँगा | यह सोचकर लोग अपनी काबिलियत को नहीं पहचान पाते और खुद को बेहतर बनाओ,इससे आपकी सारी प्रोब्लेम्स दूर हो जाएँगी और आप जरूर सक्सेस हासिल कर पाएंगे |

About the author

Asif Khan

Hey, My Name is Asif Khan i'm Blogger by Choice. I write about Health, Fitness, Internet and Tech.

Leave a Comment