Judaai Shayari in Hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए Judaai Shayari in Hindi लेकर आय हैं। दोस्तों प्यार में जुदाई सहना बड़ा ही मुश्किल होता है। यहां प्यार में जुदाई से हमारा मतलब सालों की जुदाई से बिल्कुल नहीं है। कपल्स के लिए तो कुछ दिन दूर रहना भी मुश्किल होता है। फिर आजकल तो सोशल मीडिया की बदौलत ‘लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप’ का चलन भी बढ़ चला है। ऐसे में विभिन्न कारणों से कई-कई महीनों तक बेचारे प्यार के पंछियों को मिलने का समय ही नहीं मिल पाता है।

Judaai Shayari in Hindi for Love 2019

Image result for judai shayari in hindi

Judaai Shayari in Hindi for Boyfriend / Girlfriend 2019

बेवफा वक़्त था?
तुम थे?
या मुकद्दर था मेरा?
बात इतनी ही है कि
अंजाम जुदाई निकला!!


जाने वाले एक बात तो बता
क्या हम कभी याद भी आयेंगें!!


गज़ल में गीत में दोहे में और रुबाई में,

कहां कहां नही ढूंढा तुझे जुदाई में !!


तेरे दर्द का यूँ असर हो रहा है
जुदाई में सारा शहर रो रहा है!!


क़हर है तेरी जुदाई…

पर अपना दिल भी अब पत्थर हो चला है..!!


दिल से निकली ही नहीं शाम जुदाई वाली,
तुम तो कहते थे बुरा वक़्त गुज़र जाता है!!


ओ जाने वाले तुम्हें क्या ख़बर है
उधर तुम जा रहे इधर जान जा रही!!


ना मेरी नीयत बुरी थी, ना उसमे कोई बुराई थी

सब मुक़द्दर का खेल था बस किस्मत में जुदाई थी!!


होता ही यही है, जो दिल को भाता है
वही अक्सर छोड़ के चला जाता है!!


मिलन मुमकिन ही नहीं है तो ना कर जुदाई का ग़म.. ज़िंदगी जी ले ‘यार’.. दूर से ही सही, दोस्ती का ये बंधन यादों से ही निभा लेंगे ‘तुम हम!!


जुदा हुए हैं बहुत से लोग एक तुम भी सही,
अब इतनी सी बात पे क्या जिंदगी हैरान करें!!


अगर छोड़ के यूँ जाना ही था
तो बताओ हमसे दिल क्यों लगाया था!!


उसको चाहा पर इज़हार करना नहीं आया;

कट गई उम्र हमें प्यार करना नहीं आया;

उसने कुछ माँगा भी तो मांगी जुदाई;

और हमें इंकार करना नहीं आया!!


जिसकी आँखों में कटी थी सदियाँ,
उसने सदियों की जुदाई दी है!!


तुम जा रहे हो तो ऐसा लग रहा है
जैसे सीने से दिल निकल कर जा रहा है!!


जिंदगी में मोहब्बत की जुदाई होती है

कभी कभी प्यार में बेवफाई होती है

हमारी तरफ हाथ बढ़ा के तो देखो

दोस्ती में कितनी सच्चाई होती है!!


मैं समझा था कि लौट आते हैं जाने वाले,
तू ने जाकर तो जुदाई मेरी क़िस्मत कर दी!!


आपकी सोहबत में हम
चिरागों की तरह जला करते थे
आप थे तो रौशनी रोज़ हुआ करती थी!!


काश यह जालिम जुदाई न होती!

ऐ खुदा तूने यह चीज़ बनायीं न होती!

न हम उनसे मिलते न प्यार होता!

ज़िन्दगी जो अपनी थी वो परायी न होती..!!


हमने प्यार नहीं इश्क नहीं इबादत की है,
रस्मों से रिवाजों से बगावत की है,
माँगा था हमने जिसे अपनी दुआओं में,
उसी ने मुझसे जुदा होने की चाहत की है!!


कल जब वो जा रही थी तो ये एहसास हुआ
कि उस पगली से तो मुझे प्यार हो गया है!!


मोहब्बत रब से हो तो सुकून देती हैं ..

न खतरा हो जुदाई का न डर हो बेवफाई का!!


कह के आ गए उनसे कि जी लेंगे तुम्हारी बिन,
उनके जुदा होते ही जान पे बन आई है!!


मेरी छोड़ो मैं अपने आपको संभाल लूँगा
तुम मुझे याद करके परेशां ना होना!!


दिल लेकर मेरा अब जान मांगते है।

कैसा संगदिल है सनम मेरा, प्यार सीखा कर वो जुदाई मांगते है!!


किसी से जुदा होना इतना आसान होता तो,
जिस्म से रूह को लेने फ़रिश्ते नहीं आते!!


कल रात भर मुझे ये डर सताता रहा
कि वो जाते जाते अपनी निशानी ना मांग ले!!


जुदाई हल नही है मसलों का..

तुम समझते क्यूँ नही बात मेरी..!!


आओ किसी शब मुझे टूट के बिखरता देखो,
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो,
किस किस अदा से तुझे माँगा है खुदा से,
आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो!!


प्यार ना करना किसी से सहन नहीं होगा
जुदा हो गये तो फिर जीने का मन नहीं होगा!!


किस्मत पर एतबार किसको है

मिल जाये खुशी का इंकार किसको है कुछ मजबूरियां है

मेरे दोस्त वरना जुदाई से प्यार किसको है !!


हर मुलाक़ात पर वक़्त का तकाज़ा हुआ,
हर याद पर दिल का दर्द ताज़ा हुआ,
सुनी थी सिर्फ लोगों से जुदाई की बातें,
खुद पर बीती तो हक़ीक़त का अंदाज़ा हुआ!!


अब यकीं हुआ कि उसे मुझसे मोहब्बत थी
जाते जाते उसकी आँखों में मैंने नमीं देखी थी!!


लाएँगे कहाँ से हम, जुदाई का हौसला ,

क्यों इस क़दर मेरे करीब आ रहें हैं आप!!


तुझे चाहा तो बहुत इजहार न कर सके
कट गई उम्र किसी से प्यार न कर सके
तूने माँगा भी तो अपनी जुदाई माँगी
और हम थे कि तुझे इंकार न कर सके!!


तुम जा तो रहे हो मगर ज़ुदा नहीं हो पाओगे
क्योंकि हमने तुम्हें दिल में कैद करके रक्खा है!!


तेरी चाहत में , तेरी मुहब्बत में ,तेरी जुदाई में …

कोई रोज़ टूटता है पर आवाज नहीं करता!!


Judaai Shayari for Friends in Hindi 2019

हर एक बात पर वक़्त का तकाजा हुआ
हर एक याद पर दिल का दर्द ताजा हुआ
सुना करते थे ग़ज़लों में जुदाई की बातें

खुद पे बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ!!


लोग क्या क्या कह रहे थे मुझे कुछ ख़बर नहीं
जाते जाते वो कुछ कह दे मैं इस इंतज़ार में था!!


हर मुलाकात पर वक्तका तकाज़ा हुआ

हर याद पे दिल का दर्द ताजा हुआ

सुनी थी सिर्फ हमने गज़लों मे जुदाई की बातें

अब खुद पे बीती तो हकीकत का अंदाजा हु!!


वफ़ा की ज़ंज़ीर से डर लगता है
कुछ अपनी तक़दीर से डर लगता है
जो मुझे तुझसे जुदा करती है
हाथ की उस लकीर से डर लगता है!!


हमारी जब मर्ज़ी होगी तब महक लिया करेंगें
हमने आपकी यादों का इत्र बना कर रख लिया है!!


इक तेरी जुदाई के दर्द की बात और है

जिन को न सह सके ये दिल,ऐसे तो गम नहीं मिले!!


इन दूरियों को जुदाई मत कहना
इन खामोशियों को रुसवाई मत कहना
हर मोड़ पर याद करेंगे आपको
ज़िन्दगी में साथ नहीं दिया तो बेवफाई मत कहना!!


इश्क़ क्या कर लिया हमने जान पर बन आई है
अब किसे ये ख़बर थी कि क़िस्मत में जुदाई है!!


अंगड़ाई पे अँगड़ाई लेती है रात जुदाई की..

तुम क्या जानो,तुम क्या समझो. बात मेरी तन्हाई की”!!


याद में तेरी आहें भरता है कोई
हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई
मौत तो ऐसी चीज़ है जिसको आना ही है
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज मरता है कोई!!


इसे मेरी बेवफ़ाई ना समझ हालात ही कुछ ऐसे थे
मैं भी तुझसे ज़ुदा होकर जीते जी मर गया हूँ!!


कोई वादा नहीं फिर भी तेरा इंतज़ार है,

जुदाई के बाद भी तुम से प्यार है!!


ज़िंदगी मे किसी से जुदाई का ज़िक्र मत करना…

इस दोस्त से कभी रुसवाई मत करना!!


किसी को प्यार इतना देना कि हद न रहे
पर ऐतबार भी इतना रखना कि शक न रहे
वफ़ा इतनी करना कि बेवफाई न हो
और दुआ बस इतनी करना की जुदाई न हो!!


दिल धड़कनें ख़्वाब सुकूँ सब तो लेके जा रहे हो

तुमने कभी सोचा है मैं जिऊँगा तो कैसे जीऊँगा!!


तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है
एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है
पहले नही सोचा था अब सोचने लगे है
हम जिंदगी के हर लम्हों में तेरी ज़रूरत सी  लगती है!!


अगर ज़िन्दगी में जुदाई न होती
तो कभी किसी कि याद आयी न होती
साथ ही गुजरता हर लम्हा तो
शायद रिश्तो में ये गहराई न होती!!


मैं एक अरसे से उसका दिल जीतने में लगा था
और वो जाते जाते अपना दिल हारकर चली गई!!


दोस्तो की जुदाई का गम ना करना,
दुर रहो तो भी दोस्ती कम ना करना,
अगर मिले जिँन्दगी के किसी मोड पर हम,
तो हमे देख कर अपनी आँखे बन्द ना करना!!


ऐसी कोई बात नहीं, बस ज़रा आँख नम हो आई है
आप तो जाइये, हमने ना रोने की कसम खाई है!!


जिंदगी के रूप में दो घूंट मिले, इक तेरे इश्क का पी चुके हैं..दुसरा तेरी जुदाई का पी रहे हैं…!!


एक उम्र भर की जुदाई मेरे नसीब करके
वो तो चला गया है बातें अजीब करके
तर्ज़-ए-वफ़ा को उनकी क्या नाम दूँ मैं अब
खुद दूर हो गया है मुझको करीब करके!!


सिसकन तड़पन उदासी नाउम्मीदी, क्या कुछ नहीं है
जुदाई में सब तो मिल गया, अब किस बात की कमी है!!


प्यार करना हमें भी पसंद है पर जुदाई पसंद नहीं।

जुदाई तो सह भी लेता पर बेवफाई पसंद नहीं!!


आओ किसी रोज मुझे टूट के बिखरता देखो
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो
किस किस अदा से तुझे मागा है खुदा से
आओ कभी मुझे सजदो में सिसकता देखो!!


तुम्हारे जाने के ख़्याल से ही कलेजा मुँह को आ रहा
तुम चले जाओगे तो मेरी जान ही निकल जाने वाली है!!


जुदाई की ये गर्म रातें अब हमें नहीं सुहाती

कभी यूं भी हो कि सर्द रात हो और हम फिर करीब हो!!


Sad Judaai poem in Hindi 2019

तेरी जुदाई रात भर तड़पाये
हंसना भुला दिया तेरी इस जुदाई ने,
रोना सिखा दिया तेरी इस जुदाई ने,
सोचता रहा हर पल हर घड़ी तेरे बारे में,
तेरी इन यादों ने आंसू दे दिये,
तेरी जुदाई में इस कदर शामिल हो गया कि मेरे होठों की मुस्कान ले गयी,
मुस्कान की जो वजह कभी देते थे तुम,
तुम ही मेरे होठों की मुस्कान ले गये,
तेरी बेवफाई ने भरोसा मेरा तोड़ दिया,
तेरी जुदाई ने मुझको तोड़ दिया,
जो खुशियों के फूल मेरे दिल में खिलते थे,
वहीं आज ग़म के काँटे चुभते हैं,
बिखर के टूट गये इस कदर कि अब ना जीने के बहाने रह गये,
आँसू नहीं बहते थे जो पलकों से मेरी,
आज वही हर पल इन आँखों की पहचान बन गये,
उन्ही आँखों में तुम आज नफ़रत के आंसू दे गये,
जो जीने का एहसास देते थे तुम
आज तुम ही मेरे आँसुओं की वज़ह बन गये,
सोचा ना करूं तुम से प्यार
पर प्यार तुम तो मेरे रोने की वजह बन गये!!


Lambi Judai Song in Hindi 2019

बिछड़े अभी तो हम
बस कल परसों
जियूंगी मैं कैसे
इस हाल में बरसों
मौत ना आये तेरी याद क्यों आये?
हाय, लम्बी जुदाई

चार दिनों का प्यार, हो रब्बा
बड़ी लम्बी जुदाई, लम्बी जुदाई
होंठों पे आये, मेरी जान, दुहाई
हाय, लम्बी जुदाई
चार दिनों का प्यार, हो रब्बा
बड़ी लम्बी जुदाई, लम्बी जुदाई

एक तो सजन मेरे पास नहीं रे
दूजे मिलन दी कोई आस नहीं रे
उसपे ये सावन आया
आग लगाने
हाय, लम्बी जुदाई
चार दिनों का प्यार, हो रब्बा
बड़ी लम्बी जुदाई, लम्बी जुदाई

बाग उजड़ गये, बाग उजड़ गये खिलने से पहले
पंछी बिछड़ गये मिलने से पहले
कोयल की कूक, कोयल की कूक ने हूक उठायी
हाय, लम्बी जुदाई
चार दिनों का प्यार, हो रब्बा
बड़ी लम्बी जुदाई, लम्बी जुदाई
होंठों पे आये, मेरी जान, दुहाई
हाय, लम्बी जुदाई

टूटे ज़माने तेरे हाथ निगोड़े, हाथ निगोड़े
दिल से दिलों की तूने शीशे तोड़े, शीशे तोड़े
हिज्र की ऊँची, हिज्र की ऊँची दीवार बनायी
हाय, लम्बी जुदाई
चार दिनों का प्यार, हो रब्बा
बड़ी लम्बी जुदाई, लम्बी जुदाई

 

दोस्तों उम्मीद है आपको Judaai Shayari in Hindi मेरी ये पोस्ट काफी पसंद आयी होगी। दोस्तों Comment करके जरूर बतायें।…..HindiDream.Com

About the author

Asif Khan

Hey, My Name is Asif Khan i'm Blogger by Choice. I write about Health, Fitness, Internet and Tech.

Leave a Comment