मलाला यूसफज़ई के अनमोल विचार

विश्वास वह शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में प्रकाश लाया  जा सकता है| उसी प्रकाश को अन्धकार में नहीं बदलने दिया,हिम्मत  से  काम लिया और बुलंदियों को इतनी कम उम्र में गले लगा लिया| यह कोई और नहीं मलाला यूसुफजई  ने करके दिखाया जब वो केवल 12 वर्ष की थी| जिस उम्र में लोग खिलौने पसंद करते है उस उम्र में उन्होंने बंदूक की गोली का सामना किया जिससे उनके जैसे और लड़कियों की जिंदगी में प्रकाश की लौ नहीं बुझे| केवल उस बंदूक की गोली के दर्द को सह कर मौत गले नहीं लगाया बल्कि उस दर्द को सहन करके और सब नारियो के लिए एक मिसाल बन गयीं|

वह सबसे कम उम्र की नोबेल प्राइज विजेता है| जिन्होंने अपनी शिक्षा के लिए आतंकवाद को हरा दिया| आज हम इन्ही नारी शक्ति का प्रतीक मलाला यूसुफजई के अनमोल विचारों को लेकर आये है |

1-एक किताब,एक कलम,एक बच्चा,और एक शिक्षक दुनिया बदल सकते है|

2-मै  अपना चेहरा नहीं ढकती,क्योंकि मैँ अपनी पहचान छिपाना नहीं चाहती|

3-अपनी बेटियों का सम्मान करिये,क्योंकि वे सम्मानीय है|

4- हो सकता है मै भूतों और ड्रैगन से डर जाऊँ पर मै तालिबान से नहीं डरती|

5-मेरा मानना है की बंदूक में कोई शक्ति नहीं है|

6-मै उस लड़की के रूप में याद किया जाना नहीं चाहती जिसे गोली मार दी गयी थी| मै उस लड़की के रूप में याद किया जाना चाहती हूँ जिसने खड़े होकर सामना किया|

7-अगर आप एक तालिबानी को जूते से मारते हैं, तो आप में और उस तालिबानी में कोई अंतर नहीं रह जाता। आपको औरों के साथ क्रूरता और उतनी कठोरता से व्यवहार नहीं करना चाहिए, आप औरों से ज़रूर लड़िये लेकिन शांति, बातचीत और शिक्षा के माध्यम से।

8-कुछ लोग और लोगों से कुछ करने के लिए कहते हैं। मेरा मानना है कि, मैं किसी और का इंतज़ार क्यों करूँ? क्यों न मैं  एक कदम उठाऊं और आगे बढ़ जाऊं|

9-मेरा मानना है कि ये एक औरत का अधिकार है कि वो डिसाइड करे कि उसे क्या पहनना है और अगर एक औरत बीच पर बिना कुछ पहने जा सकती है, तो वो सबकुछ क्यों नहीं पहन सकती?

10-जब मैं पैदा हुई तो हमारे कुछ रिश्तेदार घर आये और मेरी माँ से कहा, ‘चिंता मत करिए, अगली बार आपको बेटा होगा।’

11-जब पूरी दुनिया शांत हो तब एक आवाज़ भी ताकतवर बन जाती है|

12-जब भगवान् ने आदमी और औरत बनाये, वो सोच रहे थे, ‘मैं अगले मनुष्य को पैदा करने की ताकत किसे दूँ?’ और भगवान् ने औरत का चुनाव किया। और एक बहुत बड़ा प्रमाण है कि औरत शक्तिशाली है।

13-एक बार मैंने भगवान् से एक या दो एक्स्ट्रा इंच की हाईट मांगी, लेकिन उसकी बजाय, उन्होंने मुझे आकाश जितना ऊँचा बना दिया, इतना ऊँचा कि मैं खुद को माप नहीं सकती…लोगों तक पहुँचने की ये ऊँचाई देकर, उन्होंने मुझे बहुत बड़ी जिम्मेदारियां भी दे दीं|

14-मैं पहले ही मौत देख चुकी हूँ, और मैं जानती हूँ कि मौत मुझे मेरे शिक्षा के मकसद में मदद कर रही है। मौत मुझे मारना नहीं चाहती।

15-मैं उस तालिबानी से भी नफरत नहीं करती जिसने मुझे गोली मारी। अगर मेरे हाथ में गन भी हो और वो मेरे सामने खड़ा हो जाए, मैं उसे नहीं मरूंगी।

16-प्यारे बहने और भाइयों, हम रौशनी का महत्त्व तब समझते हैं जब हम अन्धकार देखते हैं।

17-मैं शिक्षा प्राप्त करुँगी- चाहे घर में, स्कूल में या कहीं और |

18-इस्लाम हमसे कहता है हर एक लड़की और लड़का शिक्षित किया जाना चाहिए। मुझे नहीं पता तालिबान ये क्यों भूल गया है।

19-मैंने नेल्सन मंडेला से बहुत कुछ सीखा है, और वो मेरे लीडर रहे हैं। वो मेरे दुनिया भर के लाखों लोगों के लिए एक सतत प्रेरणा हैं।

20-एक डॉक्टर केवल मरीजों का इलाज कर सकता है। एक डॉक्टर केवल उनकी मदद कर सकता है जिन्हें गोली लगी है या जो घायल हैं। लेकिन एक पॉलिटिशियन लोगों को घायल होने से रोक सकता है। एक पॉलिटिशियन एक ऐसा कदम उठा सकता है कि कल कोई डरा हुआ न हो।

21-शिक्षा न ईस्टर्न है न वेस्टर्न। शिक्षा शिक्षा है और ये हर एक मानव का अधिकार है।

22-मेरी कहानी दुनिया भर के हज़ारों बच्चों की कहानी है। मुझे आशा है ये औरों को अपने अधिकारों के लिए खड़े होने की प्रेरणा देगी।

23-जिस दिन मुझे गोली मारी गयी, और उसके अगले दिन, लोगों ने “मैं मलाला हूँ” के बैनर उठाये। उन्होंने ये नहीं कहा कि “मैं तालिबान हूँ।”

24-बहुत सारी समस्याएं हैं, लेकिन मुझे लगता है इन सभी समस्याओं का समाधान है; वो बस एक है, और वो शिक्षा है।

25-अगर आप किसी व्यक्ति को मारते हैं तो ये दिखता है कि आप उससे डरे हुए हैं।

उम्मीद है दोस्तों आपको मलाला युसुफ़ज़ई के motivational quotes पसंद आये  होंगे  इन्हे पढ़कर आप भी मोटीवेट हुए होंगे| अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो  तो comment के माध्यम से बताये|

About the author

Asif Khan

Hey, My Name is Asif Khan i'm Blogger by Choice. I write about Health, Fitness, Internet and Tech.

Leave a Comment