Sorry Love Shayari in Hindi

सॉरी एक ऐसा शब्द है जिसे बोलने से कोई भी इंसान छोटा या बड़ा नहीं होता क्योंकि एक सॉरी से हज़ारों रिश्तों को जोड़ा जा सकता है | इसलिए किसी को बुरा फील मत कराओ और उस छोटी सी गलती के लिए एक सॉरी बोलकर उसे ख़त्म कर दें |

दोस्तों आज हम ऐसे ही कुछ सॉरी के ऊपर कोट्स,स्टेटस ,शायरी लेकर आये हैं | अपनी जीएफ, यानी गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड से सॉरी मांगने के लिए आप इस्तेमाल कर सकते हैं| Couples, Him/her, Husband/Wife, Girlfriend/Boyfriend, GF/BF, गर्लफ्रेंड, बॉयफ्रेंड, प्रेमी, प्रेमिका, पति, पत्नी, दोस्त, या आदि के साथ फेसबुक, व्हाट्सप्प या अन्य किसी सोशल साइट्स पर शेयर कर सकते हैं।

 

Related image

 

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो,
सॉरी डार्लिंग…!

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

रिश्तों में दूरियां तो आती-जाती रहती हैं,
फिर भी दोस्ती दिलो को मिला देती है,
वो दोस्ती ही क्या जिसमे नाराजगी न हो,
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना ही लेती है।

देखा है आज मुझे भी गुस्से की नज़र से,
मालूम नहीं आज वो किस-किस से लड़े है|
न तेरी शान कम होती न रुतबा ही घटा होता,
जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता|

मुमकिन हो अगर तो खुद में तशरीफ रखियेगा,
नामे जिंदगी के बाहर खुराफात ही खुराफात है.

तुम नफरतों के धरने कयामत तक जारी रखो ऐ सनम,
हम मोहब्बत से इस्तीफा मरते दम तक नहीं देंगे।
आज एक वादा करते हैं तुमसे,
मेरे लिए अब कोई नहीं ज्यादा है तुमसे,
माफ़ कर दो जो रुसवा किया तुमको,
गलती हमारी थी जो खुद से जुड़ा किया तुमको,

जिस्म की सजा में,
रूह का गुनाहगार हूँ,
वक्त के दस्तूर में लिपटा ,
फासलों से घिरा तेरा प्यार हूँ !

सॉरी कहने का मतलब है,
कि आपके लिए दिल में प्यार है,
अब जल्दी से हमे माफ़ कर दो ऐ सनम,
सुना है आप बहुत समझदार हैं।

भूल से भूल को भुला दो जरा, आशिक आपके है गले से लगा लो जरा, फिर ना करेंगे नराज़ आपको, अब तो थोडा मुस्कुरा दो जरा, सॉरी बेबी….!

जरूरतें चाहे जितनी हो
जिंदगी में तुम जरूरी हो..
Sorry Hubby

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से।

चुप रहते है हम की कोई खफा ना हो जाये, हमसे कोई रुसवा ना हो जाये, बड़ी मुश्किल से कोई अपना बना है, डर लगता है कही वो भी जुदा ना हो जाये, अगर मैंने कुछ गलती कि हो तो माफ़ कर दो….!

आज मैंने खुद से एक वादा किया है,
माफ़ी मंगुगा तुझसे तुझे रुसवा किया है,
हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ,
अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है।

दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया….!

तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी, तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी, क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर, जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहेगी….!

About the author

Asif Khan

Hey, My Name is Asif Khan i'm Blogger by Choice. I write about Health, Fitness, Internet and Tech.

Leave a Comment